Aapka Rajasthan
Sirohi सिरोही में खुदाई में निकला था हजारों साल पुराना महादेव का मंदिर, महाशिवरात्रि पर लगता है भक्तों का तंता
 

सिरोही न्यूज़ डेस्क,ऐसा प्राचीन मंदिर जिसकी खुदाई हजारों साल पहले हुई थी और आज देश भर के श्रद्धालुओं की आस्था इस मंदिर से जुड़ी हुई है। यह मंदिर एक कुएं पर बना है। सिरोही जिले के आबू रोड स्थित चंद्रावती शहर का प्राचीन नगर, जहां आज भी 11वीं और 12वीं शताब्दी के अवशेष मिलते हैं, उन्हीं अवशेषों में से एक है प्राचीन चंद्रावती शहर का अमरनाथ महादेव मंदिर।

Rajasthan Politics: सीएम गहलोत के बयान से गरमाई प्रदेश की राजनीति, बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने पलटवार कर कही यह बड़ी बात

 सिरोही जिले के आबू रोड में हजारों साल पुराना अमरनाथ महादेव का मंदिर है। कहा जाता है कि 2000 साल पहले खुदाई के दौरान यह पूरा मंदिर निकला था, लेकिन फिर सुरक्षा के अभाव में मंदिर का विकास नहीं हो सका और मंदिर फिर से विलुप्त हो गया। उसके बाद करीब 40 से 50 साल पहले महंत मंगलदास के सपने में एक मंदिर दिखाई दिया जो मिट्टी में दब गया। जिस पर महंत मंगलदास ने स्थानीय लोगों की मदद से मिट्टी की खुदाई करवाई तो टीले के नीचे दबा सुरक्षित मंदिर निकला. यह मंदिर एक झरने पर बना है।

यहां देश-विदेश से श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचते हैं। यह मंदिर आबू रोड के पास घने जंगलों में स्थित है। कहा जाता है कि हजारों साल पहले चंद्रावती शहर था, जो राजस्थान, गुजरात में व्यापार का मुख्य केंद्र था और मंदिर भी उसी चंद्रावती शहर का एक हिस्सा है। इस मंदिर में कई अन्य हजारों साल पुरानी मूर्तियाँ हैं और इस मंदिर में चंद्रावती नगरी के कई अवशेष आज भी मौजूद हैं।

Rajasthan Breaking News: सीएम गहलोत की अध्यक्षता में कैबिनेट बैठक में कई अहम फैसले, विभिन्न सेवा नियमों में संशोधन को मिली मंजूरी

आज यहां देश भर से बड़ी संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचते हैं। है। सावन और महाशिवरात्रि के मौके पर यहां मेले का आयोजन किया जाता है, जिसमें हजारों श्रद्धालु दर्शन करने आते हैं। इस अमरनाथ महादेव मंदिर में एक नाग-नागिन का जोड़ा भी रहता है। चश्मदीदों ने इस अमरनाथ महादेव मंदिर में नाग-नागिन का जोड़ा भी देखा है। भक्तों का कहना है कि भोलेनाथ से सच्चे मन से मांगी गई हर मुराद पूरी होती है।