Aapka Rajasthan
Rajasthan Politics: सीएम गहलोत के बयान पर सचिन पायलट ने किया पलटवार, कहा-इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करना उनकी परवरिश का हिस्सा नहीं
 

जयपुर न्यूज डेस्क। राजस्थान में चल रहे सियासी उठापटक के घटना क्रम के बीच सीएम गहलोत के सचिन पायलट को लेकर दिए गद्दार वाले बयान को लेकर प्रदेश की राजनीति एक बार फिर गरमा गई है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बयान पर पलटवार करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सचिन पायलट ने कहा कि उनके जैसे अनुभवी व्यक्ति के लिए इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करना शोभा नहीं देता। प्राथमिकता यह होनी चाहिए कि भाजपा को हराने के लिए एकजुट होकर लड़ें और राहुल गांधी का हाथ भी मजबूत करें। 

बाड़मेर में दलित मूक बधिर युवती से बदमाशों ने किया गैंगरेप, धौरीमन्ना के अस्पताल में चल रहा युवती का इलाज

01

सचिन पायलट ने कहा कि अशोक गहलोत उन्हें निकम्मा, नकारा, गद्दार वगैरह कहते रहे हैं, लेकिन इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करना उनकी परवरिश का हिस्सा नहीं था। राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि कीचड़ उछालना और आरोप-प्रत्यारोप का जो दौर चल रहा है, उससे कोई उद्देश्य पूरा नहीं हो रहा है। राहुल गांधी के नेतृत्व वाली कन्याकुमारी से कश्मीर यात्रा के राजस्थान में प्रवेश करने वाली भारत जोड़ो यात्रा से कुछ दिन पहले गहलोत ने पायलट पर तीखा हमला करते हुए उन्हें गद्दार करार दिया और कहा कि उन्हें कभी भी राज्य का मुख्यमंत्री नहीं बनाया जा सकता है।

01


सीएम गहलोत की इस टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए पायलट ने कहा कि मैंने अशोक गहलोत के आज के बयानों को मेरे खिलाफ लक्षित देखा है। कोई ऐसा व्यक्ति जो इतना अनुभवी है, वरिष्ठ है और जिसे पार्टी ने इतना कुछ दिया है, इस तरह के अनुभव के साथ इस भाषा का इस्तेमाल करना शोभा नहीं देता।  इस तरह के पूरी तरह झूठे और निराधार आरोप लगाते हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हमें एकजुट होकर भाजपा से लड़ना है। पहले भी अशोक गहलोत लंबे समय से मुझ पर इस तरह के आरोप लगाते रहे हैं।