Aapka Rajasthan
Udaipur का यह सरकारी स्कूल हुआ स्मार्ट, एलइडी टीवी से पढ़ाई कर रहे बच्चे, शिक्षक व ग्रामीण बने भामाशाह
 
उदयपुर न्यूज़ डेस्क,  बारिश की बूंदे छोटी हो सकती हैं, लेकिन उनकी लगातार बारिश बड़ी नदियों का प्रवाह बन जाती है, जैसे छोटे प्रयास एक स्कूल में बड़ा बदलाव ला सकते हैं। उदयपुर जिले का सेमरी प्रखंड इसी विचार और प्रयास से आगे बढ़ रहा है। मदरसा ब्लॉक के कई स्कूलों ने आधुनिक शिक्षण विधियों को अपनाया है। यह कार्य स्कूली शिक्षकों व अभिभावकों व ग्रामीणों के सहयोग व प्रयास से संभव हुआ है। सेमरी उदयपुर जिले का इकलौता प्रखंड है जिसके स्कूलों में एलईडी से पढ़ाई होती है।
मिशन स्मार्ट टीवी को मिला शिक्षकों और ग्रामीणों का सहयोग
दरअसल, कोरोना काल में आधुनिक तकनीक और ऑनलाइन शिक्षा ने शिक्षा व्यवस्था को सरल बनाया है. सेमेरी ब्लॉकों पर इस विचार के साथ काम किया जा रहा है कि इस तकनीक और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा से हर कोई लाभान्वित हो सके। यह पहल सीबीईओ सिद्धार्थ जैन और एसीबीओ मनोहर लाल मीणा ने की है। उन्होंने कहा कि आज के विज्ञान और प्रौद्योगिकी के युग में सरकारी स्कूली बच्चों को आधुनिक तकनीकी ज्ञान, सूचना से वंचित नहीं किया जाना चाहिए और इसके लिए हर स्कूल में स्मार्ट टीवी/एलईडी की आवश्यकता महसूस की गई ताकि सभी बच्चों को शिक्षा से अच्छा ज्ञान प्राप्त हो सके। दृष्टिकोण इसके लिए मिशन स्मार्ट टीवी की शुरुआत की गई, जिसके तहत शिक्षकों, अभिभावकों और ग्रामीणों के सहयोग से 40 स्कूलों में एलईडी की व्यवस्था की गई है. इसके माध्यम से बच्चों को सर्वांगीण शैक्षणिक, सह-विद्यालय विकास की जानकारी दी जा रही है।
सेमेरी ब्लॉक रैंकिंग में नंबर 1
सीबीईओ सिद्धार्थ जैन ने कहा कि जिस तरह से निजी स्कूलों में डिजिटल और नई तकनीक की मदद से शिक्षा की व्यवस्था की गई है, उसी तरह सरकारी स्कूली बच्चों को भी इस तकनीक का लाभ उठाना चाहिए. इसलिए वे जहां भी प्रखंड के सरकारी स्कूलों का निरीक्षण करने जाते हैं, उन्हें एलईडी टीवी लगाने के लिए प्रेरित करते हैं। सभी ने मिलकर इस व्यवस्था को बनाने की पहल की है। अब सरकारी स्कूलों में भी स्मार्ट क्लास शुरू हो गई है, जिसका फायदा बच्चों को मिल रहा है। उनकी तकनीकी समझ विकसित की जाएगी और ई-लर्निंग को सुगम बनाया जाएगा। सेमरी प्रखंड भी लंबे समय से उदयपुर जिले की रैंकिंग में नंबर वन रहा है।