Aapka Rajasthan
Sirohi जिला अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर में इलाज के दौरान महिला की मौत, परिजनों सहित समाज बंधुओं ने डॉक्टरो पर लापरवाही का लगाया आरोप
 

सिरोही न्यूज़ डेस्क,सिरोही जिला अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर में इलाज के दौरान एक महिला की मौत हो गई. इसके बाद परिजन समेत महिला के परिजन सिरोही अस्पताल पहुंचे और उन्होंने मौत का कारण डॉक्टर की लापरवाही बताकर शव उठाने से मना कर दिया. लोगों का गुस्सा देखकर अस्पताल प्रशासन ने मौके पर कोतवाली पुलिस को बुला लिया.

शहर के झूपाघाट निवासी इम्तियाज खान पुत्र रमजान खान पठान ने बताया कि उनकी मां इम्तियाज बानो (55) पत्नी रमजान हाजी पठान मंगलवार दोपहर करीब 2:45 बजे पेट में तकलीफ होने के बाद इलाज के लिए अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर पहुंचीं. यहां मौजूद डॉक्टर सो रहे थे। काफी देर तक डॉक्टर नहीं आए तो परिजन बीमार महिला को लेकर घर लौट गए। सुबह जब उसे वापस अस्पताल लाया गया तो डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

महिला की मौत पर बड़ी संख्या में परिजन व समाज के लोग सिरोही सरकारी अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर पहुंचे और अस्पताल प्रशासन के खिलाफ धरना शुरू कर दिया. इस दौरान श्री अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर के मुख्य द्वार का शीशा टूट गया। घटना की सूचना मिलते ही कोतवाली थाने के सीआई राजेंद्र सिंह राजपुरोहित दलबल सहित अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर पहुंचे. शाम करीब सात बजे तक परिजनों ने शव नहीं उठाया। इस दौरान ट्रॉमा सेंटर के आईसीयू वार्ड में शव के अलावा कोई दूसरा मरीज नहीं दिखा।