Aapka Rajasthan
Sawaimadhopur में खाद की लड़ाई, आक्रोशित किसानों ने हाईवे जाम किया
 

सवाई माधोपुर न्यूज़ डेस्क, सवाई माधोपुर जिले में यूरिया खाद के लिए मारामारी मची हुई है। यहां खाद नहीं मिलने से नाराज किसान हाईवे जाम कर रहे हैं। किसानों ने बुधवार को सवाई माधोपुर में टोंक चिरगांव राष्ट्रीय राजमार्ग 552 और भदौती-लालसोट-कोटा मेगा हाईवे को जाम कर दिया. इससे यहां वाहनों की लंबी कतार लग गई। इसी बीच गंगापुर सिटी सीएम के प्रस्तावित दौरे की तैयारियों का जायजा लेने जा रहे जिलाधिकारी सुरेश कुमार ओला व एसपी सुनील कुमार विश्नोई भी किसानों के बीच जाम में फंस गए. यहां किसानों ने कलेक्टर एसपी को जिले में चल रही खाद की कमी से अवगत कराया और मांग के अनुरूप खाद उपलब्ध कराने की अपील की. हालांकि कलेक्टर एसपी के समझाने पर आक्रोशित किसानों ने करीब 15 मिनट बाद लालसोट कोटा मेगा हाईवे से जाम हटा दिया.

जाम की सूचना पाकर एसडीएम किशन मुरारी मीणा, तहसीलदार सत्य प्रकाश गुप्ता सहित कृषि विभाग व भदौती चौकी पुलिस के अधिकारी मौके पर पहुंचे. किसानों को भदौती पुलिस चौकी बुलाया गया। वहां पुलिस चौकी पर कतार लगाकर प्रत्येक किसान को राशन कार्ड पर झोला का टोकन दिया गया। उस टोकन के माध्यम से खाद विक्रेता की दुकान से एक किसान को कंपोस्ट बैग का वितरण किया गया। दरअसल, मंगलवार को भदौती कस्बे के एक निजी खाद कारोबारी की दुकान पर 396 यूरिया खाद की बोरियों की रैक पहुंची। बुधवार सुबह से ही डीलर की दुकान पर खाद खरीदने के लिए किसानों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी। लेकिन डीलर ने किसानों को खाद का वितरण नहीं किया। जिससे आक्रोशित किसानों ने लालसोट कोटा हाईवे जाम कर दिया. इसी तरह पुराने शहर सवाई माधोपुर में स्थित एनएच 552 टोंक चिरगांव राष्ट्रीय राजमार्ग को भी किसानों ने जाम कर दिया। इधर, एक खाद की दुकान पर 436 यूरिया की बोरी आ चुकी थी। जिसकी जानकारी होने पर सुबह छह बजे से ही किसानों की भीड़ लग गई। जिसे देखकर दुकानदार डर गया और दुकान बंद कर दी। इससे नाराज किसानों ने हाइवे जाम कर दिया। उधर, दुकानदार ने दुकान बंद कर कृषि विभाग के अधिकारियों व पुलिस को सूचना दी. सूचना मिलने के बाद कृषि विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे। यहां पहुंचने के बाद अधिकारियों ने पुलिस की मौजूदगी में खाद का वितरण करवाया।