Aapka Rajasthan
Rajsamand जिला एवं सेशन न्यायाधीश ने जेल का किया औचक निरिक्षण, क्षमता से तीन गुना अधिक मिले केदी, जज ने मिट्‌टी से बर्तन साफ न करने के दिए निर्देश
 

राजसमंद न्यूज़ डेस्क,मंगलवार को अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश मनीष कुमार वैष्णव ने राजसमंद जिला जेल का दौरा किया. जेल में 3 गुना ज्यादा कैदी मिले। साथ ही कैदियों को मिट्टी से बर्तन धोते देख वैष्णव ने उन्हें साबुन का इस्तेमाल करने की सलाह दी।

Rajasthan Top Breaking News In 30 Seconds: करौली में एसीबी की बड़ी कार्रवाई, जानिए राजस्थान से जुडी हर छोटी-बड़ी खबर बस 30 सेकंड में

वैष्णव ने जेल में भोजन, साफ-सफाई व अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया. निरीक्षण के दौरान जेल में 186 कैदी मिले। उन्हें बताया गया कि जेल क्षमता से तीन गुना अधिक है। वैष्णव ने जेल के बैरक और किचन की साफ-सफाई की जांच की।

कैदियों को उनके भोजन में दाल, चपाती और आलू की सब्जी दी जा रही थी। मिट्टी से बर्तन साफ ​​किए जा रहे थे। इस दौरान वैष्णव ने बर्तनों को मिट्टी से न साफ ​​करने और बर्तनों को साबुन से साफ करने की हिदायत दी. ताकि बंदियों को स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों का सामना न करना पड़े। वहीं, निरीक्षण के दौरान जेल में डॉक्टर भी नदारद पाए गए।

Rajasthan Breaking News: बंबिहा गैंग के कौशल चौधरी ने ली गैंगेस्टर संदीप सेठी की हत्या की जिम्मेदारी, एसओजी के एडीजी अशोक राठौड पहुंचे नागौर

वैष्णव ने नए बंदियों से बात की, उनकी समस्याओं को सुना और उन्हें अधिवक्ता के रूप में नियुक्त नहीं किए जाने पर 2 कैदियों के मामले में मुफ्त कानूनी सहायता के लिए आवेदन करने के लिए कहा। कैदियों को कानूनी सलाह और सहायता प्रदान करने के लिए जेल में एक कानूनी सहायता क्लिनिक चलाया जाता है। जिसमें पीएलवी धर्मेश खटीक द्वारा हर सप्ताह बुधवार को ड्यूटी दी जाती है। वैष्णव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव भी हैं।