Aapka Rajasthan
Rajsamand के भीम क्षेत्र के गांवों में कलेक्टर ने किया दौरा, गौवंश के लिए बनाए आइसोलेशन सेंटर का किया निरिक्षण, घर-घर जाकर ले रहे हैं जानकारी
 

राजसमंद न्यूज़ डेस्क,राजसमंद में लुंपी का प्रभाव बढ़ता जा रहा है। दिन प्रतिदिन संक्रमित गायों की संख्या बढ़ती जा रही है। संक्रमित गायों की संख्या करीब 21 हजार पहुंच गई है। इधर, गायों के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए जिला प्रशासन स्थानीय ग्रामीणों का भी सहयोग ले रहा है. गांवों में पशु मित्र बनाए गए हैं, जो घर-घर जाकर संक्रमित गायों की जानकारी ले रहे हैं।

इसी क्रम में मंगलवार देर रात कलेक्टर नीलाभ सक्सेना राजसमंद के देवगढ़ के भीमा पहुंचे। रात की चौपाल के बाद उन्होंने ग्रामीणों से मुलाकात कर लम्पी रोग की जानकारी लेकर सुझाव दिए. उन्होंने कहा कि इसके लिए प्रखंड स्तरीय कमेटी का गठन किया गया है. जो हर गांव की जानकारी ले रहा है। कलेक्टर ने मंगलवार की रात भीमा स्थित श्री शांतिनाथ सार्वजनिक गौशाला में ढेलेदार पशुओं के लिए बनाए गए आइसोलेशन सेंटर का निरीक्षण किया और मौके पर मौजूद स्टाफ को भी निर्देश दिए. गौशाला में पीड़ित गायों की जानकारी प्राप्त करने के लिए किए जा रहे उपचार के बारे में जानकारी ली।

इससे पूर्व कलेक्टर ने देवगढ़ स्थित श्री गुरु सौभाग्य मदन गौ शाला एवं आईसोलेशन सेंटर का निरीक्षण कर संबंधित अधिकारियों से बीमारी की जानकारी ली. कलेक्टर नीलाभ सक्सेना ने भीमा के बिलियावास, जसाखेड़ा क्षेत्र का भी दौरा किया और लम्पी रोग से पीड़ित गायों के बारे में जानकारी ली. इससे पहले उन्होंने लंपी को लेकर एसडीएम कार्यालय में समीक्षा बैठक की. बैठक में उन्होंने गायों के उपचार, स्वच्छता, दवा, रोगग्रस्त गायों को आइसोलेशन सेंटरों तक ले जाने में गौ सेवकों और पशु मित्रों की भागीदारी सुनिश्चित करने को कहा. इस अवसर पर भीम अनुमंडल पदाधिकारी उम्मेद सिंह ने किये गये कार्यों की जानकारी दी. बैठक में भीम तहसीलदार महिपाल सिंह, उप राजेंद्र सिंह, विकास अधिकारी अजय सिंह, पशु चिकित्सा अधिकारी सहित कार्मिक मौजूद थे.