Aapka Rajasthan

Pratapgarh में यूरिया के लिए संघर्ष जारी, किसानों को पड़ रहा घंटो लाइन में खड़ा

 
प्रतापगढ़ न्यूज़ डेस्क, प्रतापगढ़ जिले में किसानों को यूरिया के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। स्थिति यह है कि सहकारी समितियों के पास बहुत कम मात्रा में खाद पहुंच रहा है। जिससे किसानों की कतार लग गई। शहर के आबकारी रोड स्थित महालक्ष्मी क्रय-विक्रय सहकारी समिति में खाद पहुंचा। इसे लेकर किसानों की कतारें लगी रहीं। यहां यूरिया के लिए महिला किसानों की कतार लगी रही। परसोला। रबी की फसल को यूरिया खाद की जरूरत है। उर्वरकों की कमी के कारण किसान उन्हें निर्धारित मूल्य से अधिक कीमत पर खरीदने को विवश हैं। किसानों ने बताया कि उन्हें बाजार से यूरिया 400 रुपये और डीएपी 1700 रुपये में खरीदना पड़ रहा है। इस संबंध में शिकायत पर धरियावाड़ कृषि विभाग की टीम बुधवार को परसोला कस्बे में पहुंची. कृषि विभाग की टीम को देख पहले तो डीलरों ने दुकानें व गोदाम बंद करवाए। विभाग की सख्ती के बाद दुकान खोलकर आधार कार्ड के माध्यम से निर्धारित मूल्य पर खाद का वितरण किया गया.

कृषि विभाग ने कहा कि धरियावाड़ में जब यूरिया की 2 हजार बोरी खाद की दुकानों पर पहुंची तो किसानों की भीड़ जमा हो गई. जिससे कृषि विभाग के अधिकारियों ने स्थिति को संभालते हुए खाद का वितरण करवाया। दुकानदारों को निर्धारित मूल्य पर ही विक्रय करने के सख्त निर्देश दिए। वितरण के दौरान सहायक कृषि अधिकारी मुकेशचंद्र मीणा, देवीलाल मीणा, प्रकाश डोडा, कृषि पर्यवेक्षक कंवरलाल बारोट, जयराज सोनी, नरेंद्र कछवा, भंवरलाल, अशोक, डालनशाह, अनिल शांतिलाल मौजूद रहे.