Aapka Rajasthan
Pali में MBC मॉडल निरस्त करने की मांग को लेकर कलेक्ट्रेट के बाहर धरने पर बैठे डिस्कॉमकर्मी, मांगों पर अड़े
 

पाली न्यूज़ डेस्क,पाली में डिस्कॉम कर्मचारी अपनी मांगों पर अड़े हैं। प्रशासन द्वारा काम पर लौटने के निर्देश के बाद भी धरना जारी है। मंगलवार को जिले भर से बड़ी संख्या में डिस्कॉम कर्मचारी कलेक्ट्रेट के बाहर धरना स्थल पर पहुंचे. उन्होंने कहा कि जब तक डिस्कॉम को निजी हाथों में देने का फैसला वापस नहीं लिया जाता है। तब तक उनका विरोध जारी रहेगा।

धरने में डिस्कॉम कर्मियों के साथ शहर के कुछ वार्डों के लोग भी शामिल थे. उन्होंने डिस्कॉम को ठेका नहीं देने की मांग का समर्थन किया। डिस्कॉम कर्मियों ने कहा कि आज शहरवासियों को सीवरेज की समस्या का सामना करना पड़ रहा है. इसी तरह डिस्कॉम को निजी हाथों में देने से शहरवासियों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा. उनकी सुनवाई नहीं होगी। यदि बिजली बिल का भुगतान समय पर नहीं किया गया तो तत्काल उसका भुगतान कर दिया जाएगा। वक्ताओं ने ठेके पर लगे अनाड़ी कामगारों पर भरोसा कर बिजली व्यवस्था के सुचारू रूप से चलने पर भी सवाल उठाए।

बता दें कि एमबीसी मॉडल को रद्द करने की मांग को लेकर डिस्कॉम कर्मचारी कलेक्ट्रेट के बाहर धरने पर बैठ गए हैं. डिस्कॉम कर्मियों का कहना है कि राज्य सरकार की ओर से घाटे को कम करने के लिए 22 अगस्त को ठेके पर डिस्कॉम की मीटरिंग, बिलिंग और कलेक्शन कार्य के लिए टेंडर जारी किया गया था. जिसकी आखिरी तारीख 22 सितंबर है। डिस्कॉम के निजीकरण के विरोध में पाली प्रखंड के जेईएन, राजस्व शाखा के कर्मचारी व तकनीकी कर्मचारी समेत 128 कर्मी कलेक्ट्रेट के बाहर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं. ये सभी एमबीसी मॉडल को निरस्त करने की मांग कर रहे हैं। जोधपुर डिस्कॉम बिजली कर्मचारी पाली सर्कल के जिला महासचिव राजेश मेवाड़ा ने कहा कि जब तक उनकी मांगों का समाधान नहीं होता तब तक हड़ताल जारी रहेगी.