Aapka Rajasthan
kota गोशाला में चारा नहीं, पॉलीथिन खाने से गोवंश हो रहे बीमार, अधिकारियों को पाबंद किया
 

कोटा न्यूज़ डेस्क,गुरुवार को कलेक्टर ओपी बुनकर, अपर आयुक्त निगम अंबालाल मीणा, राजस्व आयुक्त दिनेश शर्मा ने भी गौशाला का निरीक्षण किया. कलेक्टर ने बताया कि मवेशियों में हरा चारा बिल्कुल नहीं है। हरा चारा कई दिनों से नहीं आ रहा है।पुआल और दवाइयां उपलब्ध हैं, लेकिन हरा चारा जरूरी है। वहां आने वाले ज्यादातर मवेशी पॉलीथिन खाकर बीमार पड़ रहे हैं। अभी भी 20 से 25 गौवंश ऐसे हैं जिनकी हालत गंभीर बनी हुई है।वहां के अधिकारियों व कर्मचारियों को कहीं से भी हरे चारे की व्यवस्था करने और यहां की व्यवस्था में सुधार करने पर रोक लगा दी गई है.

धारीवाल तक पहुंचा गोशाला में हंगामे का मामला 

गाेशाला कमेटी के अध्यक्ष जितेंद्र सिंह ने जयपुर में मंत्री धारीवाल से मुलाकात की। बताया कि निगम के अधिकारी गौशाला की व्यवस्थाएं सुधारने में रुचि नहीं ले रहे हैं.संभागायुक्त दीपक नंदी ने सेवानिवृत्ति से पूर्व बंधा स्थित गायत्री परिवार गौशाला का दौरा कर व्यवस्थाएं देखीं. उन्होंने यहां बन रही 18 तरह की गोमूत्र, साबुन व अन्य दवाओं का निरीक्षण किया। उन्होंने अन्य गौशालाओं में भी इस तरह की पहल के लिए प्रेरित किया। संभागायुक्त ने यहां सपत्नीक गायत्री यज्ञ भी किया।उन्होंने यहां गौ-उत्पादों के माध्यम से स्वास्थ्य समस्याओं के समाधान की बात कही। गायत्री के परिजनों व गौसेवकों की ओर से सेवानिवृत्ति से पूर्व कोटा मंडल में श्रेष्ठ कार्य करने पर संभागायुक्त को सम्मानित किया गया.कलेक्टर ओपी बुनकर, अपर कलेक्टर आरके सिंह, उपायुक्त निगम गजेंद्र सिंह, अपर संभागीय आयुक्त अनुराग भार्गव, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उप निदेशक ओम प्रकाश तोषनीवाल, डॉ. दीपक नंदी का गोविंद माहेश्वरी, समाजसेवी आनंद राठी, जीडी पटेल ने स्वागत किया. , समन्वयक ज्ञानेंद्र विजय आदि।