Aapka Rajasthan
kota कोचिंग सिटी में बच्चों के मेंटल फिटनेस के लिए आयोजित किया गया 'फिजिकली फिट-मेंटली हिट'
 

कोटा न्यूज़ डेस्क,कोटा एक कोचिंग सिटी है और ऐसे में कोटा जिला प्रशासन ने कोचिंग करने वाले छात्रों को मानसिक रूप से फिट रखने के लिए अपने प्रयास तेज कर दिए हैं और इसी तर्ज पर कोचिंग संस्थानों को विशेष निर्देश दिए गए हैं कि छात्रों को मानसिक रूप से मजबूती मिले। कोचिंग छात्रों के मानसिक स्वास्थ्य को मजबूत करने और एकाग्रता बढ़ाने के लिए नियमित प्रयास किए जा रहे हैं कोटा में शारीरिक रूप से फिट-मानसिक रूप से हिट सेमिनार का आयोजन किया गया।

एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट की ओर से रामदुलारी जिंदल मेमोरियल एंड हेल्थ केयर सोसायटी, किशोर स्वास्थ्य अकादमी के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस गोष्ठी में जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में शहर के 10 विशेषज्ञ चिकित्सकों ने विद्यार्थियों का मार्गदर्शन किया। संगोष्ठी के दो सत्रों में 5 हजार से अधिक छात्रों ने भाग लिया। इस मौके पर जिला प्रशासन की ओर से नोडल अधिकारी सुनीता डागा मौजूद रहीं। विशेषज्ञ पैनल डॉ. नीता जिंदल, डॉ. राकेश जिंदल, डॉ. अंशुल माथुर, डॉ. विक्रांत माथुर, डॉ. अनुराग अग्रवाल, डॉ. अविनाश बंसल, डॉ. गरिमा लखोटिया, डॉ. हरीश शर्मा, डॉ. अभिलाषा मंगल, डॉ. अमित देव शामिल थे।कार्यक्रम का संचालन करते हुए डॉ. नीता जिंदल ने विद्यार्थियों से जुड़े सवाल किए, जिनका हर विशेषज्ञ डॉक्टर ने जवाब दिया। प्रत्येक डॉक्टर द्वारा अपनी-अपनी विशेषज्ञता का समावेश करते हुए उत्तर दिए गए और छात्रों को बेहतर जीवन शैली के साथ मानसिक और शारीरिक रूप से फिट रहने के मूल मंत्र बताए गए।

विद्यार्थियों ने अपनी जीवन शैली में शामिल छोटी-छोटी समस्याओं को उठाया, जिनमें सिरदर्द क्यों होता है, हार्मोन्स के कारण शरीर में क्या बदलाव आते हैं, आंखों को स्वस्थ कैसे रखा जाए, त्वचा की देखभाल कैसे की जाए, अगर ध्यान भटकता है तो क्या एकाग्रता बढ़ाने के लिए क्या करना है, कितना पढ़ना है, कितना खेलना है, लैपटॉप और मोबाइल का कितना उपयोग करना है, तनाव, चिंता के क्या कारण हैं, पढ़ाई करते समय कैसे बैठना है, कब और कितने प्रश्न पूछे गए, जिनमें, किसका बहुत ही सरल और आसान भाषा में उत्तर दिए गए। इस मौके पर विद्यार्थियों ने भी अपनी बात रखी और विशेषज्ञ चिकित्सकों से सीधे बातचीत की। उन्होंने इस सेमिनार को मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए बेहद महत्वपूर्ण बताया।