Aapka Rajasthan
Kota 7 साल की मासूम के साथ मौसा करता रहा रेप:मध्य प्रदेश में पार्षद रह चुका आरोपी, घरवालों को मारने की देता था धमकी
 

कोटा न्यूज डेस्क, सात वर्षीय मासूम के साथ उसका मौसा एक माह से दुष्कर्म कर रहा था। किसी को बताने पर घरवालों को जान से मारने की धमकी देता था। मामला सामने आने के बाद अब आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामला बोरखेड़ा थाना क्षेत्र का है। बाल कल्याण समिति सदस्य विमल चंद जैन ने बताया कि मंगलवार को बाल कल्याण समिति सदस्य आबिद अब्बासी को सूचना मिली कि एक 7 वर्षीय बच्ची के साथ उसके रिश्तेदार ने दुष्कर्म किया है. जिसके बाद बाल कल्याण समिति के सदस्य तत्काल बच्ची के परिजनों के पास पहुंचे और पूरे मामले की जानकारी ली.

काउंसलिंग में युवती ने बताया कि उसका मौसा पड़ोस में ही रहता है। करीब 1 माह पहले वह उसे चॉकलेट के नाम पर अपने घर ले गया। उस वक्त घर में कोई नहीं था। जिसके बाद आरोपी ने उसके साथ ज्यादती की। जब बच्ची रोने लगी तो आरोपी ने कहा कि अगर उसने किसी को बताया तो वह उसके परिजनों को मार देगा। इसके बाद बच्ची लापता होने लगी। इसके बाद चार बार आरोपी ने युवती को अपने घर बुलाया और उसके साथ इसी तरह से ज्यादती की। 14 नवंबर को जब आरोपी की पत्नी घर पर नहीं थी तो उसने दोबारा मासूम को फोन किया। उस दौरान लड़की के पिता ने काम पर जाने से पहले लड़की को फोन किया, तो लड़की काफी देर तक बाहर नहीं आई.

जब वह बाहर निकली तो घबराई हुई थी। ऐसे में पिता को शक हुआ। उसने अपनी पत्नी से पूछताछ करने को कहा। बच्चा लापता हो जाता था, ऐसे में जब मां ने बच्चे से विश्वास में जानकारी ली तो बच्चे ने अपने साथ हुई घटना की जानकारी दी. यह सुनकर घरवाले भी सहम गए। इसके बाद उन्होंने सीधे बाल कल्याण समिति सदस्य को इसकी जानकारी दी।

आरोपी भाग न जाए इसलिए शक नहीं होने दिया

बाल कल्याण समिति सदस्य विमल चंद जैन ने बताया कि मामला प्रकाश में आने के बाद आरोपी के भाग जाने की आशंका है. ऐसे में परिजनों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा कि घटना की जानकारी युवती के परिजनों को हो गई है। जिस दिन बाल कल्याण समिति को इस घटना का पता चला, उसी दिन यह सूचना पुलिस को दे दी गई। मामले की जानकारी लगते ही पुलिस ने भी मामला दर्ज कर लिया और बच्ची का मेडिकल भी कराया. साथ ही मजिस्ट्रेट के सामने बच्ची के बयान भी कराए गए। इस दौरान लड़की के परिजन आरोपी परिवार से सामान्य तरीके से बात करते रहे ताकि उन्हें कोई शक न हो और आरोपी फरार न हो जाए. पुलिस ने गुरुवार को मामले में कार्रवाई करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी 4 बच्चों का पिता है

बाल कल्याण समिति व बालिका के परिजनों के अनुसार आरोपी मूल रूप से मध्य प्रदेश का रहने वाला है. वह पहले से ही शादीशुदा है और 4 बच्चों का पिता है लेकिन उसकी पत्नी और बच्चों ने उसे छोड़ दिया है। वे मध्य प्रदेश में पार्षद भी रह चुके हैं। कुछ साल पहले बच्ची की बुआ से शादी करने के बाद वह उसके साथ कोटा में रहने लगा।