Aapka Rajasthan

Karoli 3 हजार करोड़ रु. की जमा राशि का भुगतान नहीं करने का आरोप, जाँच की मांग

 

करौली न्यूज़ डेस्क, करौली बहुराज्य साख सहकारी समिति के जमाकर्ता संगठन की ओर से ठगी करने वाले जमाकर्ता परिवार की ओर से जिला मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट पर धरना दिया गया. सोसायटी के प्रदेश प्रवक्ता बृजमोहन योगी का आरोप है कि तीन जिलों के लोगों ने एक ही सोसायटी में तीन हजार करोड़ रुपये का निवेश किया था, लेकिन पिछले कई सालों से उनका भुगतान अटका हुआ है. इसे देखते हुए उन्होंने सरकार से बड्स एक्ट का पालन कराने की मांग की है, ताकि पीड़ितों के भुगतान के दावों का जल्द निपटारा किया जा सके. चिटफंड कंपनियों से ठगी करने वाले जमाकर्ता संगठन की ओर से करौली समाहरणालय के सामने अनिश्चितकालीन धरना शुरू किया गया. इस दौरान संगठन ने मल्टी स्टेट क्रेडिट कोआपरेटिव सोसायटी में निवेश करने वाले लोगों का पैसा सरकार से वापस दिलाने की मांग की. संगठन के प्रदेश प्रवक्ता बृजमोहन योगी ने कहा कि कई चिटफंड कंपनियां निवेश के नाम पर लोगों से ठगी करती हैं.

लेकिन करोड़ों रुपए की ठगी के बावजूद लोगों की शिकायतों का समाधान नहीं हो रहा है। इसे देखते हुए उन्होंने बड्स एक्ट 2019 को लागू करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि जिले में बड्स एक्ट 2019 का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए सक्षम अधिकारी की नियुक्ति की जाए, इसकी जानकारी सार्वजनिक की जाए। जिससे पीड़ित निवेशक बड्स एक्ट के तहत भुगतान का दावा कर 180 दिनों के भीतर भुगतान का दावा कर सकें। इसके अलावा उन्होंने जमाकर्ताओं और एजेंटों की ओर से दर्ज मुकदमों पर त्वरित कार्रवाई करने, धोखाधड़ी करने वाली कंपनी, सोसायटी के खिलाफ बड्स एक्ट 2019 के तहत मामला दर्ज करने की भी मांग की है. इस दौरान राजकिशोर भारद्वाज, हरिमोहन महावर, केदार प्रसाद धाकड़, रमेश चंद शर्मा, कुशल जैन आदि मौजूद रहे।