Aapka Rajasthan

jodhpur आरोपी बनाने से परेशान युवक ने जहर खाया

 

जोधपुर न्यूज़ डेस्क, मंडोर गार्डन के बाहर निर्माण कॉलोनी स्थित घर में नींबू की शिकंजी बेचने वाले एक युवक ने चूहे मारने की दवा खाकर आत्महत्या का प्रयास किया. उन्हें महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आरोप है कि सड़क दुर्घटना में झूठा आरोप लगाए जाने और कोर्ट में पेश नहीं हो पाने के कारण उसने आत्महत्या का प्रयास किया।पुलिस के अनुसार निर्माण कॉलोनी निवासी टीपू (24) पुत्र ओमसिंह चौहान ने चूहा मारने की दवा खाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया। उनके फॉर्म स्टेटमेंट लिए गए। एसआई जगदीश सिंह की ओर से आत्महत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है।मंडोर उद्यान के बाहर नींबू शिकंजी का ठेला चलाने वाले एक युवक का आरोप है कि डेढ़ साल पहले बोलेरो पिकअप से सड़क हादसा हो गया था. उसे पुलिस ने चालक के रूप में गिरफ्तार किया है। पहाड़गंज द्वितीय निवासी एक युवक ने उसे जमानत देकर छुड़ाया था। फिर उसके खिलाफ कोर्ट में चालान पेश किया गया, जहां से उसी युवक को जमानत मिल गई थी। यह मामला न्यायालय में लंबित है, लेकिन वह पेशी के लिए न्यायालय नहीं जा पा रहा है।

इसी को लेकर मंडोर थाने का एक व्यक्ति रविवार दोपहर टीपू के पास गया और कहा कि उसके खिलाफ कोर्ट से समन आया है. इसी सिलसिले में उन्हें थाने बुलाया गया था। इस पर वह शाम को चौकी पर गया, लेकिन वहां उसे कोई नहीं मिला।इसके बाद वह अपने घर लौट आया, जहां उसने शराब पी। देर शाम उसने चूहों को मारने की दवा खाई। इससे उनकी तबीयत खराब हो गई। इस दौरान भाई कुंदन सिंह वहां आ गए। भाई को गंभीर हालत में देख तत्काल एमजीएच ले गए।पुलिस ने टीपू का बयान लिया है। उनका आरोप है कि पिकअप से कोई सड़क हादसा नहीं हुआ है। फिर भी उनके खिलाफ चालान पेश किया गया। अब वह पेशी पर नहीं जा पा रहा था। वह इन सब से परेशान था। 20-25 दिन पहले घंटाघर से चूहे मारने की दवा खरीदी थी।