Aapka Rajasthan
Jodhpur गैंगस्टर की पत्नी 10 साल से लापता, पीहर पक्ष ने हत्या का आरोप लगाया था, पुलिस जांच में जुटी
 

जोधपुर न्यूज डेस्क। माता का थान क्षेत्र में 16 नवंबर को दो सगी बहनों के अपहरण के मामले में बुधवार को उत्तराखंड के एक गैंगस्टर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। गुरुवार को उसे कोर्ट में पेश कर छह दिन की पुलिस हिरासत में ले लिया गया। . आरोपी की पत्नी पिछले दस साल से लापता है।आशंका जताई जा रही है कि उसने अपनी पत्नी की भी हत्या की है। जोधपुर पुलिस इस दिशा में जांच कर सकती है। पूछताछ में कई बड़े राज खुलने की संभावना है। गौरतलब है कि गत 16 नवंबर को दो सगी बहनों के अपहरण का मामला दर्ज किया गया था। जिसमें एक नाबालिग है।मामले को गंभीरता से लेते हुए साइबर टीम ने कमिश्नरेट पुलिस के साथ अपहरण व पॉक्सो का मामला दर्ज कर जांच में जुट गई है। पुलिस के मुताबिक पीड़ित परिवार के घर एक व्यक्ति आकर रुका था, जिसने अपना नाम अंशु राजपूत बताया. बाद में पता चला कि फर्जी आईडी में उसने अपना नाम विवेक प्रजापत भी बताया था।

आरोपी हत्या के 4 मामलों में शामिल रहा है

दोनों बहनों समेत आरोपितों की तलाश के लिए पुलिस टीमें रवाना की गईं। इसी बीच पता चला कि वह अजमेर के किशनगढ़ में है और फिर पता चला कि वह भोपाल के एक होटल में ठहरा हुआ है।पुलिस ने तुरंत भोपाल जाकर आरोपी हितेंद्र कुमार निवासी गिरिताल कॉलोनी उत्तराखंड को गिरफ्तार कर जोधपुर ले आई. आरोपी हत्या के चार मामलों में शामिल रहा है। इनमें से दो में नामांकित किया गया है। संत ज्ञानेश्वर वर्ष 2005 में एके 47 से हत्या के मामले में और वर्ष 2007 में फरीदकोट हत्याकांड में शामिल था।