Aapka Rajasthan
jodhpur में प्रेमी 50 हजार रुपए जमा करवाएगा तब प्रेमिका कोर्ट में पेश होगी, क्‍या है ये अजब प्रेम की गजब कहानी?
 

जोधपुर न्यूज़ डेस्क,. राजस्थान के जोधपुर और पाली जिले में अजब प्रेम की गजब कहानी में 50 हजार रुपये चर्चा का विषय बना हुआ है. 50 हजार रुपए जमा होंगे, उसके बाद प्रेमिका कोर्ट में पेश होगी। राजस्थान हाई कोर्ट में जस्टिस संदीप मेहता और जस्टिस कुलदीप माथुर की खंडपीठ ने युवक को हिरासत में लेने की याचिका पर पैसा जमा करने का आदेश दिया है.मामला यह है कि पाली जिले का रहने वाला दिनेश चौधरी सिरियारी की लड़की को अपना दिल दे बैठा था. युवती की शादी महेंद्र नाम के दूसरे युवक से हुई थी। वह महेंद्र को पसंद नहीं करती थी। सोशल मीडिया पर लड़की की दिनेश से दोस्ती हो गई। दोस्ती प्यार में बदली तो लड़की दिनेश को लेकर घर से भाग गई।पाली जिले के दिनेश चौधरी ने याचिका दायर कर कहा कि सिरियारी निवासी उसकी प्रेमिका को उसके रिश्तेदारों ने बंधक बना लिया है. याचिकाकर्ता द्वारा पचास हजार रुपये जमा कराने पर ही लड़की को सुनवाई की अगली तारीख 2 दिसंबर को कोर्ट में पेश किया जाएगा. दोनों देसूरी गए और शादी के कागजात बनवाकर गुजरात चले गए।

बेरोजगार संघ के प्रदेश अध्यक्ष उपेन यादव गिरफ्तार, क्या है साजिश के जालसाजी का मामला? उपेन यादव जयपुर : बेरोजगार संघ के प्रदेश अध्यक्ष उपेन यादव गिरफ्तार, क्या है साजिश के जालसाजी का मामला?इधर, युवती के परिजनों ने थाने में उसकी गुमशुदगी दर्ज करायी. पुलिस ने मोबाइल नंबर ट्रेस कर किशोरी को गुजरात से लाकर उसके बयानों के आधार पर परिजनों को सौंप दिया। वहीं प्रेमी दिनेश चौधरी ने अपनी प्रेमिका की वापसी के लिए राजस्थान हाईकोर्ट में बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दायर करते हुए कहा कि लड़की ने परिजनों द्वारा धमकी दिए जाने के बाद उसके साथ जाने का बयान दिया है. ऐसे में उन्हें कोर्ट में पेश कर बयान लिया जाए।दिनेश चौधरी की बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर न्यायमूर्ति संदीप मेहता और न्यायमूर्ति कुलदीप माथुर की खंडपीठ ने आदेश दिया कि पांच दिन में पचास हजार रुपये उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार के पास जमा कराये जाएं. जमा की रसीद एएजी को उपलब्ध कराएं। रसीद देखने के बाद एएजी संबंधित थानेदार को आदेश दें कि युवती को 2 दिसंबर को न्यायालय में पेश किया जाए।