Aapka Rajasthan

Jhunjhunu में रिंग रोड, बरखंडी में रोपवे, सुलताना, डूंडलोद व जाखल में नगर पालिका

 
Jhunjhunu में रिंग रोड, बरखंडी में रोपवे, सुलताना, डूंडलोद व जाखल में नगर पालिका

झुंझुनू न्यूज़ डेस्क, झुंझुनू राजस्थान की भजन लाल सरकार के पहले पूर्ण बजट में जिले को अनेक सौगात मिली है तो कई आस अधूरी भी रह गई। झुंझुनूं शहर में रिंग रोड बनाया जाएगा। मंडावा-झुंझुनूं रोड से सीकर-झुंझुनूं रोड तक नया मार्ग बनाया जाएगा। यह आधे रिंग रोड का कार्य करेगा। झुंझुनूं से मंडावा की तरफ जाने वाले वाहनों को अब शहर में नहीं जाना पड़ेगा। वे बाइपास से निकल जाएंगे। इस पर करीब 61 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। इससे शहर में जाम की समस्या से मुक्ति मिलेगी। इसके अलावा सीकर-झुंझुनूं रोड से उदयपुरवाटी रोड होते चिड़ावा मार्ग तक बाइपास बनाया जाएगा। इस पर 100 करोड़ रुपए खर्च होंगे। दोनों बाइपास पर 161 करोड़ रुपए खर्च होंगे। दोनों बाइपास बनते ही यह अपने आप रिंग रोड बन जाएगा। इसके अलावा सुलताना, जाखल व डूंडलोद में नगर पालिका बनाई जाएंगी। लोहार्गल से बरखंडी तक रोपवे बनाया जाएगा। वहीं महाराणा प्रताप खेल विवि की घोषणा तो की गई है, लेकिन यह साफ नहीं है कि खेल विवि झुंझुनूं में बनेगा या उदयपुर संभाग में। इसके अलावा पुलिस लाइन फाटक पर ओवरब्रिज के लिए भी बजट नहीं दिया गया। शहर में रिंग रोड बनाने को लेकर  मुद्दा प्रमुखता से उठाया था। खिदरसर से आबूसर तक लिंक रोड बने तो कम हो यातायात का दबाव शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया था। इसके बाद झुंझुनूं में बने रिंग रोड व कोचिंग हब शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया था।

लोहार्गल धाम का होगा विकास

लोहार्गल आने वाले व 24 कोसीय परिक्रमा में शामिल होने वाले श्रद्धालुओं की परेशानी को देखते हुए ‘लोहार्गल में 24 कोसीय परिक्रमा में श्रद्धालुओं के लिए नहीं हैं सुविधाएं’ शीर्षक से खबर प्रकाशित कर इस मुद्दे को उठाया था। झुंझुनूं चिड़ावा उपखंड की सुलताना ग्राम पंचायत को वर्षों से नगर पालिका का दर्जा मिलने का इंतजार था। बजट से पहले  कस्बे की इस मांग को लेकर अभियान चलाया और 26 जून से सिलसिलेवार समाचार प्रकाशित किए।  यह मुहिम रंग लाई। बजट में सुलताना को नगर पालिका बनाए जाने की घोषणा के साथ ही कस्बे में खुशी की लहर दौड़ गई। कस्बे वासियों ने मांग पूरी होने पर  धन्यवाद दिया और जमकर आतिशबाजी की।