Aapka Rajasthan
Jhunjhunu में बदमाशों ने की थानाध्यक्ष को गाड़ी से मारने की कोशिश, बाल-बाल बचे
 

झुंझुनू न्यूज़ डेस्क, झुंझुनू पिलानी थाना क्षेत्र के खेड़ला गांव में बीती रात शातिर नाकबजन को पकड़ने पहुंची लूणकरणसर पुलिस की गाड़ी में अपराधियों ने टक्कर मार दी. इतना ही नहीं अपराधियों ने पुलिसकर्मियों को जान से मारने की नीयत से उनके ऊपर से भागने का भी प्रयास किया. टक्कर में न सिर्फ पुलिस की गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई, बल्कि पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। इस हमले में लूणकरणसर थाना प्रभारी चंद्रजीत सिंह भाटी बाल-बाल बचे। हालांकि इस घटना में उन्हें व पुलिस टीम में शामिल अन्य पुलिसकर्मियों को चोटें आई, लेकिन अपराधियों के दुस्साहस के बावजूद एक बड़ी घटना टल गई. बाद में पुलिस ने इस घटना में शामिल 1 अपराधी को गिरफ्तार कर लिया, जबकि 2 अन्य अपराधी फरार हैं. पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बीकानेर जिले के लूणकरणसर थाने में रंगदारी के विभिन्न मामलों में वांछित संदीप माइल निवासी झेरली, तिरपाली बाड़ी और अनिल धानका को गिरफ्तार करने के लिए बीकानेर जिले की लूणकरणसर और गजनेर थाना की टीम. कल रात पिलानी पहुंचे थे। लूणकरणसर थाने की टीम का नेतृत्व एसएचओ चंद्रजीत सिंह भाटी कर रहे थे, जबकि गजनेर थाने की पुलिस टीम का नेतृत्व एसएचओ धर्मेंद्र कर रहे थे.

पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि आरोपी सफेद रंग की पिकअप गाड़ी से तिरपाली से नरहर की ओर आ रहे हैं. आरोपी को पकड़ने के लिए दोनों थानों की पुलिस टीम ने नरहर के पास घेराबंदी की। देर रात करीब सवा नौ बजे उक्त नंबर व शक्ल का वाहन पिलानी की ओर से नरहर की ओर आते देखा गया। लेकिन पुलिस टीम को देख पिकअप सवार अपनी गाड़ी मोड़कर भगा ले गए। पिलानी थाना व चिड़ावा सीओ को नाकेबंदी की सूचना देने के बाद पुलिस टीम ने आरोपी का पीछा करना शुरू किया. गांवों की कच्ची सड़कों पर काफी देर तक पुलिस को चकमा देने के बाद आरोपी छपड़ा गांव पहुंचे. जहां सामने से एक अन्य वाहन के आने पर आरोपी घिर गए और बचने के लिए पिकअप को पीछे कर पुलिस वाहन को टक्कर मार दी। आरोपी लगातार मारते रहे, जिससे बचने के लिए लूणकरणसर थानाध्यक्ष चंद्रजीत सिंह भाटी व अन्य पुलिसकर्मी वाहन में उतर गए. पुलिस टीम को वाहन से उतरता देख आरोपियों ने पुलिस टीम पर जबरदस्ती पिकअप चढ़ाने का प्रयास किया। थानाध्यक्ष व अन्य पुलिस कर्मियों ने बमुश्किल एक तरफ कूदकर अपनी जान बचाई. इस दौरान नकाबजानों का वाहन नाले में फंस गया, जिसके बाद वाहन में सवार नकाबजनों ने भागने का प्रयास किया. पुलिस ने पीछा कर एक आरोपी वीरेंद्र सिंह झेरली को पकड़ लिया जबकि उसके दो अन्य साथी संदीप माइल और अनिल धानका अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गए. बाद में तीनों आरोपियों के खिलाफ पिलानी थाने में लूणकरणसर थानाध्यक्ष चंद्रजीत सिंह भाटी द्वारा पुलिस पर जानलेवा हमला करने का मामला दर्ज किया गया है. एसएचओ चंद्रजीत सिंह भाटी ने बताया कि तीनों आरोपी बीकानेर जिले के लूणकरणसर, नोखा, कालू सहित रंगदारी के कई मामलों को अंजाम दे चुके हैं और वहां दर्ज मामलों में वांछित हैं. लूणकरणसर पुलिस गिरफ्तार नकाबजान वीरेंद्र सिंह को पूछताछ के लिए अपने साथ ले गई है।