Aapka Rajasthan
jaipur मायके वालों के पहुंचने से पहले ससुराल वालों ने कर दिया बहू का अंतिम संस्कार, फिर बहाए घड़ियाली आंसू
 

jaipur news desk, प्रदेश की राजधानी जयपुर के बस्सी थाना क्षेत्र के बैनाडा गांव में संबंधों में तल्खी का मामला सामने आया है. क्षेत्र में एक विवाहिता की संदिग्ध मौत के बाद ससुराल वालों ने आनन-फानन में अंतिम संस्कार कर दिया। इसके बाद पीहर पक्ष के लोग विवाहिता की ससुराल पहुंचे, तब तक विवाहिता का अंतिम संस्कार हो चुका था।दरअसल, बस्सी थाना क्षेत्र के बैनाड़ा गांव में मृतका की ससुराल है और मृतका का गांव खराना तहसील जमवारामगढ़ में पीहर है. मृतका के पिता किशनलाल गुर्जर ने ससुरालियों पर आरोप लगाते हुए बस्सी थाने में हत्या का मामला दर्ज कराया है.

मृतक कांता गुर्जर की पत्नी रामसिंह उम्र (30) निवासी बैनाड़ा है और 10 वर्ष पूर्व मृतका की शादी बैनाड़ा निवासी रामसिंह गुर्जर के साथ हुई थी. मृतक कांता गुर्जर के पिता किशनलाल गुर्जर ने पति रामसिंह गुर्जर, ससुर छोटूराम गुर्जर, सास प्रेम देवी व साले चंद्र मोहन गुर्जर के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है. मृतक के परिजनों का आरोप है कि गुरुवार को बिना बताए परिजनों ने गुपचुप तरीके से अंतिम संस्कार कर दिया.वहीं मृतक के परिजनों ने बताया कि जब हम मौके पर पहुंचे तो ग्रामीण वहां से भाग गए, जिससे हमारा शक गहरा गया. इस पर मृतक के पिता किशनलाल ने बस्सी थाने में हत्या की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कराया है।

परिजनों ने बताया कि मृतक महिला के ससुराल वाले आए दिन महिला के साथ मारपीट करते थे और उसे बेवजह दहेज के लिए प्रताड़ित किया जा रहा था. मृतक कांता गुर्जर की शादी करीब 10 साल पहले बैनाड़ा निवासी रामसिंह गुर्जर के साथ हुई थी। मृतक के दो बच्चे भी हैं। पहला 8 साल, दूसरा 6 साल। मृतक महिला के परिजनों ने बताया कि मृतक महिला कांता गुर्जर करीब 4 साल पहले अपने पति से मारपीट कर अपने पीहर खरना चली गई थी, लेकिन उसके बावजूद मृतका का पति रामसिंह गुर्जर कांता गुर्जर के साथ मारपीट करता था. पीहर जाने के बाद भी परिजनों ने जमवारामगढ़ थाने में तहरीर भी दी थी।पुलिस ने आरोपी पति रामसिंह को भी गिरफ्तार कर लिया लेकिन फिर भी वह अपनी आदतों से बाज नहीं आया। करीब दो साल बाद महिला थाने में भी तहरीर दी, जहां महिला थाने में सहमति के बाद मृतक कांता गुर्जर अपने पति रामसिंह के साथ ससुराल आ गई। और अब आरोप। अंत में, दो साल बाद कांता को मौत के घाट उतार दिया जाता है। अब इधर बस्सी थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।