Aapka Rajasthan
Hanumangarh पूर्व राष्ट्रपति पर हमले के विरोध में वकीलों ने काम का बहिष्कार कर किया प्रदर्शन
 

हनुमानगढ़ न्यूज़ डेस्क, हनुमानगढ़ सादुलशहर बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष लक्ष्मीनारायण सहगल द्वारा एक महिला पुलिस अधिकारी की ओर से घर में घुसकर मारपीट, बदसलूकी और जान से मारने की धमकी देने का मामला गरमा गया है. इस घटना के विरोध में शुक्रवार को हनुमानगढ़ बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं ने सभी न्यायिक कार्यों का बहिष्कार कर अपना रोष प्रकट किया. उन्होंने महिला पुलिस अधिकारी को निलंबित करने की मांग की। बार यूनियन अध्यक्ष मनजिंदर सिंह लेगा ने बताया कि 20 सितंबर की सुबह 10 बजे बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष सादुलशहर निवासी लक्ष्मीनारायण सहगल अपने घर में अकेले थे. तभी हनुमानगढ़ के महिला थाने में तैनात व सादुलशहर निवासी एसआई कुसुमलता बोरी कार लेकर अपने घर आ गई। घर में घुसते ही सहगल से कहा कि तुम मेरे पति और सास के वकील हो। तुमसे पहले भी कहा था कि मेरे ससुराल वालों की पैरवी बंद करो, फिर भी तुम पैरवी कर रहे हो। इस दौरान लक्ष्मीनारायण सहगल ने एसआई कुसुमलता की पैरवी रोकने से इनकार कर दिया। अपनी नाजायज मांग को पूरा करने के लिए एसआई कुसुमलता खिचड़ ने सहगल को घूंसे और घूंसे से पीटा और घर से बाहर निकलकर गली में गाली-गलौज की. साथ ही ससुराल पक्ष की गुहार नहीं लगाने पर सर्विस रिवॉल्वर से गोली मारने की धमकी दी। लेघा ने बताया कि इस संबंध में अधिवक्ता सहगल की ओर से सादुलशहर थाने में मामला भी दर्ज कराया गया है. उन्होंने कहा कि घटना से अधिवक्ताओं में रोष है।

Hanumangarh में बदमाशों ने पिस्टल की नोक पर युवक से की लूटपाट, मामला दर्ज

इसके विरोध में शुक्रवार को हनुमानगढ़ और श्रीगंगानगर जिलों के अधिवक्ताओं द्वारा सभी न्यायिक कार्यों का बहिष्कार किया गया है. लेघा ने कहा कि बार संघ हनुमानगढ़ इस घटना की कड़ी निंदा करता है और एसआई कुसुमलता खिचड़ के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की मांग करता है. उन्हें निलंबित किया जाना चाहिए। साथ ही एसआई के खिलाफ दर्ज मामले में त्वरित कार्रवाई की जाए। लेघा ने कहा कि जब तक इस मामले में न्याय नहीं हो जाता तब तक अधिवक्ता संघर्ष करते रहेंगे.

Hanumangarh नोहर पुलिस ने छापेमारी कर हेरोइन व नकदी के साथ एक व्यक्ति को दबोचा