Aapka Rajasthan
Dausa आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर के निरीक्षण में कलम व मोबाइल को भी अपने बचाव का हथियार बताया
 

दौसा न्यूज़ डेस्क, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय मानपुरिया में गुरुवार को एबीपीसी संगीता मानवी सहित अधिकारियों की टीम ने नांगल राजावतन प्रखंड स्तरीय छह दिवसीय आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर का औचक निरीक्षण किया. उन्होंने शिविर स्थल पर तैयार भोजन को चखकर उसकी गुणवत्ता की जांच की। मौके पर शिक्षकों ने अभ्यास कराकर शिविर की जानकारी ली। उन्होंने अप्रत्याशित हमले से उबरने का दांव बताते हुए कहा कि आपका पेन, मोबाइल, दुपट्टा भी बचाव का कारगर हथियार बन सकता है. प्रखंड मुख्य शिक्षा अधिकारी सत्यनारायण मीणा ने कहा कि आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर का उद्देश्य बालिकाओं को सशक्त एवं सशक्त बनाना है.

आबीईओ मोहनलाल मीणा ने बताया कि वर्तमान समय में बच्चियों व महिलाओं के साथ मारपीट, छेड़खानी, लूटपाट, दुष्कर्म आदि की कई घटनाएं प्रतिदिन हो रही हैं. आत्मरक्षा प्रशिक्षण से बालिकाएं इन सबके खिलाफ अपनी रक्षा करने में सक्षम होंगी। प्रशिक्षक अलका वर्मा ने पंच, किक, अटैक और डिफेंस आदि के तरीके बताए। उन्होंने चाबी, हेयरपिन, पेन, हेयरक्लिक को आपात स्थिति में हथियार के रूप में इस्तेमाल करने की जानकारी दी। इस दौरान प्रशिक्षक मधु मीणा, यतेंद्र कुमार शर्मा, मोहन लाल मीणा सहित कई शिक्षक मौजूद रहे। ज्ञात हो कि प्रशिक्षण में 116 स्कूलों की 59 शिक्षिकाएं भाग लेंगी और कक्षा 6 से 12 तक की 8156 छात्राओं को प्रशिक्षण देंगी।