Aapka Rajasthan
Bundi सर्दी में भी पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र भीमलत का जलप्रपात, खेतो की सिंचाई
 

बूंदी न्यूज़ डेस्क, बूंदी धार्मिक-पर्यटनस्थल भीमलत में सर्दी में भी झरना चल रहा है। चारों तरफ हरियाली से आच्छादित यह मनोरम दृश्य बरबस ही अपनी ओर आकर्षित करता है। झरने के ऊपर बने भीमलत बांध से किसानों को सिंचाई के लिए पानी दिया जा रहा है। यह पानी बांध से झरने में आता है। यहां से अभयपुरा बांध में जाता है। इस प्रोजेक्ट को भीमलत-अभयपुरा कहा जाता है, जिससे 3402 हैक्टेयर भूमि सिंचित होती है। भीमलत बांध का केचमेंट एरिया 101 स्क्वाॅयर किमी है। इसमें अधिकांश पानी भीलवाड़ा से आता है।

बांध की कुल भराव क्षमता 36 फीट है, अभी बांध में 33.70 फीट पानी है। सिंचाई के लिए पानी देने के लिए भीमलत बांध का एक गेट 2 फीट खोला हुआ है, जिससे प्रतिदिन 110 क्यूसेक पानी रिलीज किया जा रहा है। अभयपुरा बांध से 7 नवंबर से नहरें खोली गई थी और 16 नवंबर से भीमलत बांध का गेट खोला गया। इस बांध में एक ही गेट है। शुरुआत में उसे एक फीट खोला गया। डिमांड आने पर गेट 2 फीट खोला गया। पानी देने का रेगुलेशन फरवरी तक चलेगा। ऐसे में फरवरी लास्ट तक भीमलत का झरना देखने को मिलेगा। - अरुण कुमार मीणा, एईएन