Aapka Rajasthan
Bikaner में लंपी पीड़ित गायों के लिए बच्चों ने दिए 22,200 रुपए, नोखा गौशाला में 260 संक्रमित गायों का चल रहा इलाज, अब तक 475 की मौत
 

बीकानेर न्यूज़ डेस्क, नोखा में लम्पी बीमारी से पीड़ित गायों की मदद के लिए सामाजिक संगठनों के साथ-साथ स्कूली बच्चे भी आगे आ रहे हैं। इसी कड़ी में नोखानी लव फन लर्न स्कूल के बच्चों ने लम्पी महामारी से पीड़ित गाय मां के लिए 22200 रुपये जमा किए।

आचार्य मीनू सिंह ने कहा कि नोखा में गंगा गौशाला को रुपये दिए गए। 15100 और श्री श्याम मित्र मंडल नोखा रु. 7100 की पेशकश की गई थी। स्कूल अध्यक्ष नारायण बाहेती, स्कूल हेड बॉय शिवम राठी, अहिंसा हाउस के कप्तान रजत भूरा, चौथी कक्षा के छात्र शिवम बाहेती और मंत्र जैन ने निर्मल भूरा और गंगा गौशाला के अध्यक्ष सतीश जंवर और श्री श्याम मित्र मंडल के राजेंद्र राठी और अस्करन भट्ट को राशि दान में दी।

दोनों संस्थाओं द्वारा विद्यालय का आभार व्यक्त किया गया। स्कूल के प्रधानाध्यापक नारायण बाहेती ने बताया कि गौ माता में तेजी से फैलने वाली बीमारी लम्पी राजस्थान के लगभग सभी जिलों में अपने विकराल रूप में है। इस बीमारी से रोजाना हजारों गायों की मौत हो रही है। इस विकट परिस्थिति में पिछले दो माह से नोखा के विभिन्न संगठनों के करीब 180 लोग दिन-रात गौ माता की सेवा में लगे हुए हैं।

नोखा की गंगा गौशाला में आई 1300 गायें, 700 ठीक हुए, 260 का इलाज चल रहा है। 475 की मृत्यु हो गई। 90 को ठीक कर घर वापस भेज दिया गया है।