Aapka Rajasthan
Bhilwara गाय के शव को रस्सी से बांधकर खींचा, चालक को कारण बताओ नोटिस जारी
 

भीलवाड़ा न्यूज़ डेस्क, भीलवाड़ा प्रदेश में लंपी से गायों की मौत और बीमार होने के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. गायों की मौत से पशुपालक चिंतित हैं। गांवों में रोजी-रोटी का भी संकट था। कई परिवारों का पूरा खर्च दूध उत्पादन पर निर्भर था। लेकिन लुंपी ने उसकी कमाई का जरिया छीन लिया है। वहीं मृत्यु के बाद भी इनकी दुर्दशा किसी से छिपी नहीं है। भीलवाड़ा में भी एक गाय के शव के साथ बर्बरता का मामला सामने आया है. हालांकि, गाय लंपी से नहीं मरी। लेकिन मौत के बाद ऑटो टिपर से शव को घसीटने से गो-भक्तों में रोष है. ड्राइवर की इस बर्बरता का एक वीडियो भी सामने आया है. मामला सामने आने के बाद चालक को कारण बताओ नोटिस दिया गया।

Bhilwara ससुराल में विवाहिता ने की आत्महत्या, जाँच में जुटी पुलिस

मामला भीलवाड़ा के जाहजपुर इलाके का है. कस्बे में आज सुबह एक गाय की मौत हो गई। गली में गाय का शव देखकर लोगों ने इसकी सूचना नगर निगम कर्मचारियों को दी। शव लेने के लिए कर्मचारी ट्रैक्टर की जगह ऑटो टिप्पर लेकर आए। जमादार ने गाय के शव को रस्सी से पीछे रस्सी से बांधकर गाड़ी में खींच लिया और खींच कर ले गए। गली के लोगों ने इसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया। वीडियो सामने आने के बाद गौ भक्तों और ग्रामीणों ने नाराजगी जताई। नगर पालिका एईओ इंद्रजीत सिंह ने बताया कि मामले में संबंधित क्षेत्र के जमादार को कारण बताओ नोटिस दिया गया है. और इस मामले में 24 घंटे में जवाब देने को कहा। अधिकारियों ने कहा कि जब भी किसी जानवर की मौत की सूचना मिलती है। तो नगर निगम की टीम ऑटो टिपर को लेकर उसके शव को लेने चली जाती है. शव हल्का हो तो कर्मचारी उसे अपने हाथों से उठाकर टिप्पर में डाल देते हैं। नहीं तो जेसीबी की मदद से उसे टिपर में डालकर ले जाया जाता है। इसके साथ ही इसे नगर पालिका द्वारा निर्धारित स्थान पर गाड़ दिया जाता है या दफना दिया जाता है।

Bhilwara के गुलाबपुरा में हजारों श्रद्धालुओं ने बालाजी के दर्शन कर मांगी सुख-शांति की कामना