Aapka Rajasthan

Bharatpur दो महीने बाद आज उदय हुआ शुक्र तारा, 4 दिन में 500 शादियां

 

राजस्थान न्यूज डेस्क,  सुख-समृद्धि का प्रतीक शुक्र लगभग ढाई महीने बाद बुधवार 23 नवंबर को उदय होगा। इसके साथ ही विवाह, उपनयन संस्कार, गृह प्रवेश सहित शुभ कार्यों की शुरुआत होगी। इस माह चार बड़े पर्व हैं। वेडिंग प्लानर जितेंद्र गोयल का कहना है कि इस महीने करीब 500 शादियां होंगी। इस वजह से ज्यादातर होटल, गार्डन, मैरिज होम, धर्मशालाएं खचाखच भरी हुई हैं।

शादी ही नहीं, गृह प्रवेश, रोका समारोह, सगाई आदि जैसे शुभ कार्यों के लिए भी बुकिंग हो रही है। कोविड के बाद इस साल अच्छे बजट की शादियों का प्रस्ताव है। इससे बाजार में तेजी है। ट्रेडर्स वेलफेयर सोसाइटी के प्रवक्ता अशेक तांबी के मुताबिक, बाजार में आभूषण, फर्नीचर, कपड़े, साड़ी, बर्तन, उपहार, इलेक्ट्रॉनिक सामान, जूते, वस्त्र, गुब्बारे, ऑटोमोबाइल आदि की काफी मांग है। ज्वैलर्स ऋषभ काजलवाला का कहना है कि कोविड काल के बाद इस मौसम में आभूषणों की सामान्य मांग रही है। शादियों में कुछ नया पहनने के लिए महिलाएं हल्के वजन की ज्वैलरी पसंद कर रही हैं। नवंबर/दिसंबर में 10 से ज्यादा शादियों में शादियों के कारण ज्वैलरी की काफी डिमांड है।

शादी के लिए इस महीने 25 से 29 नवंबर तक का सबसे अच्छा समय
गौरतलब है कि विवाह की शुरुआत देव उत्थान एकादशी से होती है, लेकिन इस बार शुक्र अस्त होने के कारण अबूझ मुहूर्त को छोड़कर 25 नवंबर से होगा. इस माह 25 के अलावा 26, 28 और 29 नवंबर विवाह के लिए सर्वोत्तम शुभ मुहूर्त हैं। ज्योतिषाचार्य रामभरेसी भारद्वाज के अनुसार, शुक्र 1 अक्टूबर को अस्त हुआ था और बुधवार को पश्चिम में उदय होगा। पश्चिम में उठना सबसे अच्छी स्थिति नहीं है। इससे राजनीतिक विवाद और अनहोनी होने की संभावना है। विवाह का शुभ मुहूर्त 14 दिसंबर तक रहेगा, क्योंकि 15 दिसंबर से मलमास शुरू हो जाएगा। इसके साथ ही 14 जनवरी 2023 तक शादियों पर भी रोक रहेगी। इसके बाद 19 जनवरी से शुभ कार्यों की शुरुआत होगी।
भरतपुर न्यूज डेस्क!!!