Aapka Rajasthan
Bnaswara श्रम निरीक्षक बनकर सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के नाम पर ऑनलाइन ठगी
 

बांसवाड़ा न्यूज़ डेस्क, बांसवाड़ा बात बेटी की शादी में आर्थिक मदद की हो या किसी अन्य लाभकारी योजना में सुधार के नाम पर पात्र कर्मियों को अधिकारी बनकर अपने आवेदन पत्र में लिखने को कह कर सुधार के नाम पर पैसा वसूल किया जा रहा है. राज्य में श्रम विभाग। ऑनलाइन हो रहे इस फर्जीवाड़े की चपेट में एक पंजीकृत कर्मचारी भी बांसवाड़ा आ गया। इसकी शिकायत पर श्रम विभाग ने पुलिस अधीक्षक को पत्र भेजकर स्थिति स्पष्ट करने में मदद मांगी है. इधर विभाग में भवन एवं अन्य निर्माण श्रमिक कल्याण बोर्ड, बांसवाड़ा द्वारा विभिन्न श्रम कल्याण योजनाओं के तहत पात्र श्रमिकों को लाभ प्राप्त करने के लिए किए गए आवेदन जांच और भौतिक सत्यापन के लिए लंबित हैं। यह जानकारी जुटाकर जालसाज आवेदकों को बहला-फुसलाकर ऑनलाइन पैसे वसूल कर रहे हैं। इससे जहां एक ओर जहां बेगुनाह मजदूरों को चोट पहुंच रही है वहीं दूसरी ओर अधिकारी के नाम पर हो रहे खेल से विभाग की छवि भी खराब हो रही है.

Banswara पुलिस ने बाइक चोरी के आरोपी को भेजा जेल

बांसवाड़ा में इसी तरह कल्याण सिंह पुत्र राम सिंह चौहान से संपर्क किया गया और 2 हजार 250 रुपये की मांग की गई. यह पैसा ऑनलाइन दिया गया या नहीं, इसकी पुष्टि नहीं हुई, लेकिन जब मामला विभाग के अधिकारियों तक पहुंचा तो दंग रह गए. क्योंकि जयपुर में भी इस नाम का कोई अधिकारी नहीं है। इसके अलावा बड़ी बात यह है कि विभिन्न योजनाओं में लाभ देने के लिए फंड नहीं है तो कोई फाइल क्लियर करने की बात कैसे कर सकता है। इससे धोखाधड़ी की पुष्टि हुई।

Banswara जिले के 752 गांवों तक फैला लंपि का कहर, आंकड़ा 1000 पार