Aapka Rajasthan
Ajmer में नौकर ने मालिक को नशीला खाना देकर की लूट, दो बदमाशों के साथ की मिलकर 2 लाख रुपए और जेवरात ले गए
 

अजमेर न्यूज़ डेस्क, नौकर ने बिजनेसमैन और उसकी मां को नशीला खाना खिलाकर घर में लूट की वारदात को अंजाम दिया। वारदात के दौरान बिजनेसमैन की 85 साल की मां घर में अकेली थी। वह खाना खाने के कुछ देर बाद ही बेहोश हो गई। लेकिन, कुछ देर बाद बिजनेसमैन की बेटी घर लौटी तो नौकर समेत दो बदमाश मौके से फरार हो गए। घटना अजमेर शहर में बुधवार रात 9 बजे कचहरी रोड की है।

दरअसल अनिल जिंदल का एक्सप्लोसिव का धंधा है। एक महीने पहले जिंदल के घर नौकर कृष्ण काम पर आया था। बुधवार रात करीब आठ बजे अनिल जिंदल (63) अपनी बेटी खुशी (22) को शास्त्री नगर स्थित होटल प्रांगण में कार में छोड़ने के लिए घर से निकला था। घर में केवल उनके नौकर कृष्ण और दादी गुणवंती (85) मौजूद थे। पहले नौकर कृष्ण ने व्यापारी और उसकी माँ दोनों को दूध और दाल में मिलाकर नींद की गोली दी। इससे गुलवंती बेहोश हो गई। कुछ समय बाद दास कृष्ण ने अपने दो साथियों को घर बुलाया। इसके बाद नौकर ने अपने दो साथियों के साथ जिंदल के कमरे में रखी अलमारियों में तोड़फोड़ शुरू कर दी। जब नौकर के दो साथी पैकिंग में व्यस्त थे, नौकर कृष्ण यह सुनिश्चित कर रहे थे कि घर में मौजूद बुजुर्ग दादी को होश न आ जाए और कोई बाहर से न आए। कुछ देर बाद पिता अनिल जिंदल को होटल में छोड़ कर लौटी बेटी खुशी मुख्य दरवाजे पर पहुंची और ऊपर का दरवाजा अंदर से बंद था। उसने कई बार घंटी बजाई तो बदमाश सतर्क हो गए और किसी ने दरवाजा नहीं खोला। यहां बेटी को देख नौकर घर के दूसरे दरवाजे से भाग खड़े हुए। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शहर की घेराबंदी कर दी।
बेटी खुशी ने दिखाई हिम्मत
खुशी घर पहुंचती है और किसी के गेट नहीं खोलने पर परेशान हो जाती है। घर की पहली मंजिल पर जिंदल का परिवार रहता था। नौकर का कमरा भूतल पर था। जैसे ही खुशी मुख्य दरवाजे से ऊपरी मंजिल पर पहुंची, घंटी बजी। उसके बाद गेट नहीं खुला तो गेट बंद कर नीचे आ गया। तीन बदमाश भागते नजर आए। इसी बीच खुशी घबरा गई और भागकर पड़ोसी के घर चली गई। इसी बीच नौकर भी खुशी के पीछे-पीछे चला लेकिन उसकी चीख-पुकार से पड़ोसी बाहर आ गए। लोगों को देखकर नौकर अपने साथियों के साथ भाग गया। बताया जा रहा है कि तीन बदमाश दो लाख रुपये नकद और लाखों के जेवरात चोरी कर घर से फरार हो गए। हालांकि अभी तक किसी ने इसकी पुष्टि नहीं की है।
जयपुर में बैठी मां ने पुलिस को बुलाया

बदमाशों के भाग जाने के बाद जब उद्योगपति जिंदल की बेटी खुशी घर गई तो उसने कमरे में तोड़फोड़ और दादी गुणवंती को बेहोश पाया। इस बात की जानकारी उन्होंने अपने पिता अनिल जिंदल को दी। अनिल जिंदल जब वहां पहुंचे तो वह भी बेहोश हो गए। बाद में बेटी ने इस बात की जानकारी अपनी मां अरुणा जिंदल को दी। जयपुर में बैठी मां ने पुलिस को सूचना दी। कुछ देर बाद कोतवाली थाना प्रभारी सुधीर शर्मा, सीओ छवी शर्मा व विशेष टीम मौके पर पहुंची. मामले की जानकारी होने पर एडिशनल एसपी विकास सांगवान भी मौके पर पहुंचे जहां उन्होंने घटना की जानकारी ली. खुशी के पिता अनिल जिंदल और दादी गुणवंती अस्पताल में भर्ती हैं।

सीसीटीवी में क्राइम

अनिल जिंदल के घर के बाहर और अंदर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। जिसमें साफ देखा जा सकता है कि दास कृष्ण द्वारा पुत्री और पिता को विदा करने के बाद उनके साथियों को बुलाया गया था। उसके बाद वह घर के बाहर और घर की खिड़कियों के बाहर रेकी करते रहे। बेटी खुशी जब वहां पहुंची तो घंटी बजाते ही सभी सतर्क हो गए और घर के नीचे दूसरे गेट का शीशा तोड़कर भाग गए. पूरी घटना वहां लगे सीसीटीवी में कैद हो गई।

नौकर के कमरे से मिली शराब की बोतल

बेटी खुशी ने बताया कि करीब 1 माह पूर्व नौकर कृष्णा को घर के काम पर रखा गया था। जिनसे उनका आधार कार्ड भी लिया गया था। बताया जा रहा है कि घटना से पहले बुधवार को नौकर कृष्णा ने अपने निचले कमरे में शराब पी थी, जहां से पुलिस ने शराब की बोतल बरामद की. यहां घटना की सूचना मिलते ही जिंदल के परिजन घर पहुंचे। अजमेर के एसपी चुनाराम जाट ने बताया कि घटनास्थल का निरीक्षण करने के अलावा अभय कमान की फुटेज और घर में लगे सीसीटीवी की फुटेज खंगाली जा चुकी है. टीम ने शहर को जाम कर दिया। बदमाशों की तलाश जारी है। चोरी क्या हुई इसका अभी पता नहीं चल पाया है।