Aapka Rajasthan
Ajmer अजमेर में 4 साल के दो बच्चों का कॉक्लियर इम्प्लांट: अब ये सामान्य बच्चों की तरह बोल और सुन सकेंगे
 

अजमेर न्यूज डेस्क, अजमेर संभाग के सबसे बड़े जेएलएन अस्पताल की ईएनटी यूनिट ने पिछले सप्ताह 17 नवंबर को चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत दो और बच्चों का कॉक्लियर इम्प्लांट लगाया है। जल्द ही ये बच्चे भी आम बच्चों की तरह बोल और सुन सकेंगे।

अस्पताल प्रशासन ने सफल ऑपरेशन के बाद बुधवार दोपहर इन बच्चों को मीडिया के सामने लाया. दोनों बच्चों की उम्र चार साल है। चिकित्सकों ने आम जनता को यह भी संदेश दिया कि यदि ऐसे बच्चों को एक वर्ष की आयु तक चिन्हित कर रिश्तेदारों या पड़ोसियों द्वारा अस्पताल लाया जाए तो इन बच्चों में कॉक्लियर इंप्लांट की प्रगति चार की तुलना में तेजी से होगी- वर्षीय बच्चा। इस कारण चिकित्सकों ने आम जनता से ऐसे बच्चों के भविष्य के लिए पहल करने की अपील की। जेएलएन मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. वीर बहादुर सिंह व अधीक्षक डॉ. नीरज जैन ने बताया कि मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के बाद इस योजना को भी शामिल किया गया है.

ऑपरेशन पर करीब 4 लाख 51 हजार 500 रुपये खर्च होते हैं। इस खर्च को सरकार चिरंजीवी योजना के तहत वहन कर रही है। पहले ऐसे बच्चों के लिए स्पीच थेरेपी मशीन लगने के बाद 100 होती थी, लेकिन अब 200 हो गई है। निजी कंपनियों के प्रतिनिधि आकर इलाज कराते थे, लेकिन अब यह काम सिर्फ डॉक्टर ही कर रहे हैं। जेएलएन में अब तक 22 बच्चों का सफल ऑपरेशन किया जा चुका है। ये सभी बच्चे सामान्य बच्चों की तरह बोलने और सुनने लगे हैं।