Aapka Rajasthan
kota के डिप्टी एसपी ने चलाया अभियान, मालिक को देनी होगी जानकारी
 

कोटा न्यूज़ डेस्क, कोटा में अब किराएदारों और नौकरों का सत्यापन करना मालिकों के लिए जरूरी हो गया है। सीओ सर्कल तीन में डिप्टी एसपी ने इस संबंध में निर्देश जारी किया है. यह अभियान शुरू किया गया है। इसमें किराएदारों, नौकरों और कर्मचारियों के सत्यापन के लिए पत्र जारी किया गया है। इसमें निर्धारित दस्तावेज मांगे गए हैं। मकान मालिकों से भी संबंधित पूरी जानकारी रखने की अपील की गई है। इसके साथ ही डीवाईएसपी हर्षराज सिंह खरेडा ने आम लोगों से संदिग्ध व्यक्ति मिलने पर सूचना देने का आग्रह किया है.डीएसपी हर्षराज सिंह खरेडा ने बताया कि जन जागरूकता अभियान के तहत इस अभियान की शुरुआत की जाएगी. इसमें बीट कांस्टेबल से लेकर थानेदार तक सभी को जोड़ा जाएगा। प्रत्येक बीट कांस्टेबल अपने-अपने क्षेत्र के व्यापारियों व जमींदारों को यह निर्धारित प्रपत्र देंगे। मकान मालिकों, व्यवसायियों को मूल निवास, आधार कार्ड, अपने किराएदारों व प्रतिष्ठानों में कार्यरत कर्मचारियों के वाहन के कागजात सहित यह प्रपत्र भरकर थाने में जमा कराना होगा.

हर्षराज सिंह खारेड़ा का कहना है कि इससे व्यापारियों और आम जनता को काफी फायदा होगा। अगर कोई बाहर का अपराधी अपराध करने के बाद यहां आकर बस गया है तो उसका रिकॉर्ड पुलिस के पास रहेगा। थाना क्षेत्र से जिस व्यक्ति को ले जाया जा रहा है उसके अपराध की जानकारी सभी का रिकार्ड लेने के बाद यदि कोई वांछित क्षेत्र में रह रहा है तो उसे भी गिरफ्तार किया जायेगा. यह अभियान शहर में अपराधों को रोकने के लिए शुरू किया गया है ताकि समय रहते बदमाशों की पहचान हो सके। कई घटनाओं में यह बात सामने आ चुकी है कि बदमाश बाहर से आकर शहर में वारदातों को अंजाम देते हैं। बाद में इन्हें पकड़ने के लिए अलग से प्रयास करना पड़ता है। ऐसे में अगर किसी अज्ञात व्यक्ति का वेरिफिकेशन किया जाता है तो उसके बारे में पूरी जानकारी पुलिस को मिल सकेगी।