Aapka Rajasthan

Karoli बसों में यात्रीभार 100 फीसदी के पार, एक दिन में 11 लाख की कमाई

 
Karoli बसों में यात्रीभार 100 फीसदी के पार, एक दिन में 11 लाख की कमाई

करौली न्यूज़ डेस्क, करौली  चुनाव ड्यूटी के अधिग्रहण से बचने के लिए दो दिन निजी व लोक परिवहन बसें नहीं चलने से रोडवेज का यात्रीभार सौ फीसदी पार हो गया है। यात्रियों से ठसाठस भरी बसों के संचालन से रोडवेज को एक दिन में 11 लाख रुपए रुपए की आय हुई। जो आम दिनों से 3 लाख रुपए अधिक है। हालांकि शुक्रवार को दोपहर बाद लोक परिवहन सेवा की बसें सडक़ पर आ गई, लेकिन रोडवेज बसों में यात्रियों की भीड़ बरकरार है। दीपावली बाद चुनाव ड्यूटी के लिए वाहन अधिग्रहण में तेजी आने से निजी बसों को संचालकों ने ऑफ रूट कर लिया।

ऐसे में भाई दूज पूजा के बाद दीपावली मानने आए लोगों की वापसी शुरू होने से रोडवेज बस स्टैण्ड पर भीड़ उमड़ने से बसों में यात्री भर बढ़ गया। बुधवार को हिण्डौन डिपो की बसें 119 प्रतिशत यात्री भार से संचालित हुई। जो दूसरे दिन गुरुवार को बढ़ कर 131 प्रतिशत हो गया। गुरुवार हिण्डौन डिपो से संचालित बस सेवाओं से चौबीस घंटे में 13 हजार से अधिक यात्रियों का विभिन्न गंतव्यों के लिए परिवहन किया। इससे रोडवेज डिपो को 11 लाख रुपए की आय हुई। जबकि रोडवेज को सामान्य दिनों में यात्री भाड़ा से 8 लाख रुपए का राजस्व अर्जित होता है।

शुक्रवार को भी सुबह से ही बस स्टैण्ड पर भीड़ का आलम रहा। बसें कम पड़ने से रोडवेज अधिकारियों ने लोकल शिड्यूलों में कटौती कर जयपुर व अलवर के लिए बसें संचालित की। हालांकि दोपहर बाद लोक परिवहन की बसें संचालित होने से यात्रियों की भीड़ कुछ कम हुई। रोडवेज डिपो के अधिकारियों के अनुसार आगामी दो-तीन दिन तक बसों में यात्री भार के 100 प्रतिशत से अधिक रहने की उम्मीद है।त्योहारी सीजन में रोडवेज की हिण्डौन डिपो को नवम्बर माह के 16 दिन में 1.32 करोड़ रुपए की आय हुई हुई। लेकिन यह गत वर्ष की तुलना में कम है। वर्ष 2022 में इस अवधि में हिण्डौन डिपो को 72 बसों के बेड़े से 2 लाख यात्रियों के परिवहन से 1.48 करोड़ रुपए की आय हुई थी। वहीं इस बार बसों की संख्या में कमी आने से 1.89 लाख यात्रियों के सफर से 1.32 करोड़ की आय हुई है।