Aapka Rajasthan
Jhunjhunu यूरिया का संकट, किसानों की उड़ी नींद, नहीं मिल रहा है यूरिया
 

झुंझुनू न्यूज़ डेस्क, जिला प्रशासन और कृषि विभाग के लाख दावों के बावजूद जिले में यूरिया के लिए हाहाकार मचा हुआ है। यूरिया के लिए वितरण केंद्रों पर किसानों की भीड़ उमड़ पड़ी है। मांग के अनुरूप आवंटन नहीं होने के कारण उत्पन्न हुई यूरिया की किल्लत ने किसानों की नींद हराम कर दी है। स्थिति यह है कि रात से ही किसान यूरिया वितरण केंद्रों पर लाइन में खड़े होने के लिए मजबूर हो रहे हैं। जरूरत के हिसाब से यूरिया नहीं मिलने पर किसान चिंतित नजर आ रहे हैं, यूरिया के लिए किसानों को जदोजहद करनी पड़ रही है। झुंझुनूं के क्रय विक्रय समितियों पर यूरिया लेने के लिए किसानों की भीड उमड़ रही है। जिले में इस सीजन 22 हजार मैट्रिक टन यूरिया की जरूरत है, इस जरूरत के मुताबिक किसानों को यूरिया नहीं मिल पा रहा है। यूरिया समय पर नहीं मिलने के कारण किसान डीएपी के बाद अब यूरिया संकट झेल रहे हैं, समय पर यूरिया नहीं मिलने पर रबी की फसल पैदावार में भी फर्क पड़ने की आशंका है, जिसको लेकर किसान चिंतित है।

लाइन में लगे किसानों का कहना है कि यूरिया के लिए घण्टों लाइन में लगे रहने के बाद भी खाली हाथ लौटना पड़ रहा है। सुबह से भी यूरिया पाने को लेकर लाइनों में लगते हैं, जिले में यूरिया की आपूर्ति कम होने के कारण किसानों को समय पर यूरिया मिलने की संभावना कम नजर आ रही है। क्रय विक्रय सहकारी समिति महाप्रबंधक धर्मेंद्र कुमार ने बताया काश्तकारों की मांग को देखते हुए यूरिया की और डिमांड भेजी गई है ताकि काश्तकारों को परेशानी नहीं हो।