Aapka Rajasthan

सिर दर्द की दवा मांगने पर पति को पत्नी ने दे डाला जहर, मौत , जानें मामला

 
सिर दर्द की दवा मांगने पर पति को पत्नी ने दे डाला जहर, मौत , जानें मामला 

भीलवाड़ा न्यूज़ डेस्क,  बेमेल रिश्ते समाज के लिए कितने घातक हो सकते हैं ? यह कड़वा सच भीलवाड़ा के सदर थाना क्षेत्र के धुमडांस गांव में हुए मदनलाल गाडरी हत्याकांड की जांच में सामने आया है. पढ़ी-लिखी पत्नी वंदना को कम पढ़ा लिखा पति मदन पसंद नहीं था. पति ने एक दिन सर दर्द की दवा मांगी तो पत्नी ने उसे जहर दे दिया. पोस्टमार्टम में जहर से मौत की बात सामने आने के बाद पुलिस इसे आत्महत्या मान रही थी लेकिन परिजनों का दबाव बना कि उनका बेटा आत्महत्या नहीं कर सकता तो पुलिस ने जांच का एंगल बदला जिसके बाद सारा सच सामने आ गया. 

मामला भीलवाड़ा के धूमड़ास गांव का है. जहां 22 साल के मदन की तीन जून को अचानक तबीयत बिगड़ने पर उसे पहले भीलवाड़ा के महात्मा गांधी अस्पताल और बाद में उदयपुर के महाराणा भूपाल चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया था. जिसके बाद 6 जून को मदन ने उदयपुर अस्पताल में दम तोड़ दिया था. मृतक के भाई नारायण ने अदालत के इस्तेगासा से 15 जून को सदर थाने में रिपोर्ट दी जिसमें बताया गया कि मृतक की पत्नी टीना पुत्री कैलाश गाडरी ने मदन को जहर की गोलियां खिला दी थी. तीन जून को हुई इस घटना से पहले एक जून को ही टीना अपने पीहर से ससुराल आई थी.

पत्नी हत्या की बात कबूली 
पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू की तो मामले में बुधवार रात नया मोड़ आ गया. पुलिस अब तक आत्महत्या मान कर मामले की जांच कर रही थी लेकिन मामला हत्या का निकल गया. पुलिस जांच में साफ हो गया की पत्नी को पति पसंद नहीं था जिसकी वजह से पत्नी ने उसकी हत्या कर दी. हत्या करने की बात कबूल करने के बाद सदर थाना पुलिस ने आरोपी वंदना गाडरी को गिरफ्तार कर लिया.

पत्नी से कम पढ़ा था पति 
पुलिस ने वंदना उर्फ टीना से पूछताछ की तो चौंकाने वाला खुलासा हुआ. टीना ने पुलिस को बताया कि वह, उसके पति मदन को पसंद नहीं करती थी और किसी और से शादी करना चाहती थी. पति को पसंद नहीं करने की वजह यह थी कि वह कम पढ़ा लिखा था और फैक्ट्री में मजदूरी करता था जबकि वंदना बीए की पढ़ाई कर रही थी.

मांगी दवा, दे दिया जहर
वंदना उर्फ टीना से पूछताछ में खुलासा हुआ कि घटना के दिन तीन जून को मदन के हाथ-पैर दर्द कर रहे थे. इसके चलते उसने पत्नी वंदना से दर्द की गोली मांगी. टीना ने इसे मदन को रास्ते से हटाने का मौका मानते हुये उसे टेबलेट के बजाय सल्फोस की गोली दे दी. मदन ने पत्नी पर विश्वास करते हुये सल्फोस की गोली को टेबलेट मानकर खा लिया और कुछ देर बाद ही उसकी तबीयत बिगड़ गई.

आंटा-सांटा प्रथा से हुई थी शादी 

जेंडर असंतुलन की वजह से मेवाड़ के कई ग्रामीण अंचलों में आटा साटा विवाह प्रथा है. पुलिस का कहना है कि टीना व मदन का विवाह आंटा-सांटा प्रथा के तहत हुआ था. मदन की बहन की शादी वंदना के भाई के साथ की हुई थी. '