Aapka Rajasthan

Bhilwara युद्ध ट्रॉफी टैंक टी 55 ने युवाओं में बढ़ाया उत्साह

 
Bhilwara युद्ध ट्रॉफी टैंक टी 55 ने युवाओं में बढ़ाया उत्साह

भीलवाड़ा न्यूज़ डेस्क, भीलवाड़ा के लोगों में देशभक्ति की भावना बढ़ाने और उन्हें सेना की यादों से जोड़े रखने के लिए भीलवाड़ा में सेना से चरणबद्ध तरीके से तैयार किया गया टैंक टी 55 मंगवाया गया है। इस टैंक को शास्त्री नगर एनसीसी कार्यालय के बाहर रखा गया है। एनसीसी कार्यालय को आम लोगों तक पहुंचाने और उसकी जानकारी पहुंचाने के उद्देश्य से इस टैंक को एनसीसी कार्यालय के बाहर रखा गया है। इस मार्ग से गुजरने वाले लोग जब इस टैंक को देखेंगे तो उन्हें सेना के बलिदान की याद आएगी, उनमें देशभक्ति की भावना पैदा होगी। साथ ही एनसीसी कैडेट्स को प्रशिक्षण के साथ टैंक का व्यावहारिक ज्ञान भी होगा,

इससे उनमें प्रेरणा मिलेगी। 1971 में भारत-पाक युद्ध के दौरान इस टैंक ने पाकिस्तानी सेना को कड़ी टक्कर दी थी और भारत को विजय दिलाई थी। करीब 35 टन के इस टैंक के साथ उस दौर की यादें जुड़ी हुई हैं। इस टैंक के साथ फोटो खिंचवाने के लिए यहां लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। टैंक की सफाई और धुलाई के बाद इसका रंग-रोगन किया जाएगा और सादे समारोह के बाद यह टैंक शहर की खूबसूरती में चार चांद लगा देगा। कर्नल लोकेंद्र शर्मा ने बताया कि यह वॉर ट्रॉफी टैंक टी 55 1967 से 2010 तक भारतीय सेना में था।

2010 में इसे चरणबद्ध तरीके से हटाकर टी 72 और टी 90 टैंकों से बदल दिया गया। इसे प्रेरक युद्ध ट्रॉफी के रूप में भीलवाड़ा लाया गया है ताकि कैडेट्स में प्रेरणा का भाव पैदा हो और उन्हें हमारी भारतीय सेना के बारे में पता चले। इसी दृष्टि से इसे लाया गया है। इसमें नगर परिषद का सहयोग प्राप्त हुआ है। इसे पुणे से निशुल्क मंगवाया गया है और इसके परिवहन का खर्च 3.50 लाख रुपए नगर परिषद ने दिया है।