Aapka Rajasthan

Ajmer साथी को जयपुर जाना बता फैक्ट्री श्रमिक ने फांसी लगाई, केस दर्ज

 
Ajmer साथी को जयपुर जाना बता फैक्ट्री श्रमिक ने फांसी लगाई, केस दर्ज 

अजमेर न्यूज़ डेस्क, अजमेर इलेक्ट्रॉनिक मोटर बनाने वाली फैक्ट्री में काम करने वाला श्रमिक सोमवार दोपहर संदिग्ध हालात में कमरे में फंदे पर लटका मिला। रामगंज थाना पुलिस ने घटना स्थल का जायजा लेकर शव को मोर्चरी पहुंचाया जहां देर शाम पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन के सुुपुर्द कर दिया। मृतक मूलत: जयपुर चाकूस का रहने वाला था। पुलिस के अनुसार जयपुर चाकूस कृपारामपुरा हाल रामगंज ईसाई मोहल्ला निवासी रामप्रसाद शर्मा (32) सोमवार सुबह फैक्ट्री नहीं गया। रामप्रसाद ने साथी श्रमिक ललित को बाइक में पेट्रोल डलवाकर आने की बात कही जबकि दूसरे साथी को जयपुर जाने की बात कही। दोपहर में साथी श्रमिक कमरे पर आया तो वह उसे फंदे पर लटका मिला। सूचना पर फैक्ट्री मालिक सुनील भक्तानी व अन्य मौके पर पहुंचे। सूचना मिलते ही रामगंज थानाधिकारी भी घटना स्थल पहुंचे। पुलिस ने मृतक रामप्रसाद के कमरे की गहनता से तलाश के बाद शव को मोर्चरी में रखवाया। पुलिस ने मृतक के बड़े भाई कैलाश की रिपोर्ट पर संदिग्ध हालात में मृत्यु का मामला दर्ज किया।

पुलिस पड़ताल में आया कि रामप्रसाद विवाहित था। उसके दो बच्चे भी हैं। परिजन जयपुर चाकसू में रहते हैं। रामप्रसाद दिवाली पर अपने घर नहीं गया था। दो दिन पहले उसके परिजन अजमेर आए थे। जिन्हें रामप्रसाद कम्पनी की गाड़ी से पुष्कर घुमाकर लाया था। पुलिस आत्महत्या के कारण की पड़ताल में जुटी है।

सुबह तक सबकुछ ठीक

फैक्ट्री संचालक सुनील भक्तानी ने बताया कि रामप्रसाद दो माह पहले ही फैक्ट्री में लगा था। उसने ही तीन-चार श्रमिकों को रेलवे अस्पताल के पीछे ईसाई मोहल्ला में खाली पड़ा मकान रहने के लिए दे रखा था। सोमवार सुबह रामप्रसाद से मुलाकात हुई थी तब तक सबकुछ ठीक था। अचानक क्या हालात बने यह किसी को भी समझ नहीं आया।